माजुली द्वीप भारत का पहला द्वीप जिला

asmap

# असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने 8 सितंबर 2016 को असम के 35वें जिले के रूप में माजुली जिले का उद्घाटन किया | असम के माजुली द्वीप को राज्य के 35वें जिले का दर्जा मिला | यह देश का पहला द्वीप जिला बन गया है | यह देश का पहला ऐसा जिला बन गया है जिसका पूरा क्षेत्रफल नदी के बीचो – बीच स्थित है | 1 सितंबर 2016 को माजुली सबसे बड़े नदी द्वीप के रूप में गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड्स में शामिल किया गया था |

09_09_2016-majauli

# माजुली को असमिया संस्कृति और वैष्णव धर्म का प्राण कहा जाता है | माजुली को असम की सांस्कृतिक राजधानी भी कहा जा सकता है | माजुली को सत्रों (मठ) की नगरी के रूप में जाना जाता है | इससे पहले माजुली जोरहाट जिले की महज के महकुमा में थी लेकिन अब इसका सम्बन्ध पूरी तरह से जोरहाट से अलग हो गया | महकुमाधि पति कार्यालय के सभागार में आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री ने उपायुक्त कार्यालय का उद्घाटन किया | इस मौके पर भारी संख्या में माजुलीवासी मौजूद थे |

# उल्लेखनीय है कि माजुली ब्रम्हापुत्र नदी के बीचो – बीच स्थित है | यहाँ पर पहुँचने के लिए नदी के रास्ते नाव, जहाज से पंहुचा जा सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)