उत्सर्जन के मानक बीएस – V

bgbgbg

# देश के निरंतर बढ़ रहे प्रदुषण की चिंताजनक स्थिति को ध्यान में रखते हुए 6 जनवरी 2016 को केंद्र सरकार के सड़क परिवहन, पेट्रोलियम, भारी उद्योग एवं पर्यावरण मंत्रालय ने अप्रैल 2020 तक कारो के उत्सर्जन मानक बीएस – V (BS – bharat stage) के बजाय, बीएस – VI को लागु करने करने का निर्णय लिया है | भारत में अभी कारें बीएस – IV उत्सर्जक मानको पर चलती है | यह निर्णय इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि सरकार ने कुछ समय पहले ही बीएस – VI को लागू करने की अंतिम तारीख 2021 तय की थी, लेकिन अब इसे एक वर्ष पूर्व (2020) में ही लागू किया जायेगा | सरकार का यह निर्णय दिसम्बर 2015 में पेरिस में हुए जलवायु परिवर्तन सम्मलेन में उत्सर्जन को काम करने हेतु भारत के वायदे के अनुरूप है |

# वाहनों में एक खास फ़िल्टर लगाया जायेगा |

# इनमे डीजल पार्टिकुलेट फ़िल्टर यानी DPF होंगे |

# इससे 80 से 90 प्रतिशत पीएम 2.5 जैसे कण हवा में आने से रोके जा सकेंगे |

# इसमें सिलेक्टिव कैटेलिटिक रिडक्शन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जायेगा |

# इससे नाइट्रोजन ऑक्साइड को नियंत्रित किया जा सकेगा |

# बीएस – VI मानदंड के लागू होने पर कारो के साथ साथ ट्रको, बसों जैसे भारी वाहनों में भी फ़िल्टर लगाने की जरुरत होगी |

# मौजूदा भारत स्टेज – IV और भारत स्टेज – III मानको के तहत यह शर्ते लागू नहीं होती और काफी प्रदुषण होता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)