Category Archives: कहाँनियाँ

मुंशी प्रेमचंद | Munshi Premchand

img1120731037_1_3

जन्म प्रेमचन्द का जन्म ३१ जुलाई सन् १८८० को बनारस शहर से चार मील दूर लमही गाँव में हुआ था। आपके पिता का नाम अजायब राय था। वह डाकखाने में मामूली नौकर के तौर पर काम करते थे। जीवन धनपतराय

उत्तर की तलाश !!

एक मित्र ने पूछा, “तुम कब पैदा हुए थे ?” “शायद तब जब लाल बहादुर शास्त्री प्रधानमंत्री थे, नहीं शायद गुलजारी लाल नन्दा या इंदिरा में से कोई प्रधानमंत्री था।” मैंने उत्तर दिया। “तुम्हें इतना भी याद नहीं।” “बच्चा था

बंदर !!

_85730600_monkey2

आज़ादी के समय देश में हर तरफ दंगे फैले हुए थे। गांधी जी बहुत दुखी थे। उनके दुख के दो कारण थे – एक दंगे, दूसरा उनके तीनों बंदर खो गए थे। बहुत तलाश किया लेकिन वे तीन न जाने

सफलता का रहस्य

succes

एक बार एक व्यक्ति ने महान दार्शनिक सुकरात से पूछा कि “सफलता का रहस्य (The Secret of Success) क्या है?” सुकरात ने उस व्यक्ति को कहा कि वह कल सुबह नदी के पास मिले, वही पर उसे अपने सवाल का

महान गणितज्ञ आर्यभट की जीवनी – Aryabhatta Biography In Hindi

Aryabhata

                    आर्यभट / Aryabhatta भारत के महान खगौलिय (khagoliya) और गणितज्ञ (Mathematicians) थे। अपनी खगोलिय खोजों के बाद उन्होंने सार्वजनिक घोषणा की कि प्रथ्वी 365 दिन 6 घंटे 12 मिनट और 30

घमंडी कौवा

99-Word Story logo Avocado

          हंसों का एक झुण्ड समुद्र तट के ऊपर से गुज़र रहा था , उसी जगह एक कौवा भी मौज मस्ती कर रहा था . उसने घमंडी कौवा हंसों को उपेक्षा भरी नज़रों से देखा “तुम